Insight Today
Crime National

संपत्ति विवाद में माता-पिता की हत्या के आरोपी बेटे धरे गए

बदायूं (उप्र), 22 दिसंबर | उत्तर प्रदेश में दो व्यक्तियों को संपत्ति विवाद को लेकर अपने माता-पिता की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बेटों ने न केवल अपने माता-पिता की हत्या की थी, बल्कि इसे एक दुर्घटना के रूप में दिखाने के लिए उनके शवों को जलाने की भी कोशिश की थी।

गौरतलब है कि 61 वर्षीय राजेन्द्र और उनकी पत्नी राजवती (57) जो अपने बदायूं स्थित घर पर रहते थे, के शव 15 दिसंबर को उनके कमरे में बुरी तरह से जले पाए गए थे। यह घटना संजरपुर गुलाल गांव की है।

उनके चार बेटे थे लेकिन उनमें से कोई भी बुजुर्ग दंपति के साथ नहीं रहता था।

बुजुर्ग दंपति के दो बेटे दिल्ली में काम करते हैं, जबकि दो अन्य बदायूं में रहते हैं। परिवार के पास गांव में एक घर और लगभग 10 एकड़ खेत था।

शुरू में, जांच के दौरान, दोनों बेटों ने दावा किया था कि एक कंबल में आग लग गई थी और उनके माता-पिता जिंदा जल गए थे।

हालांकि, शव परीक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि दंपति की गला घोंटने से मौत हो गई थी और उनके शवों को बाद में आग लगा दी गई थी।

एसएसपी संकल्प शर्मा ने कहा, “शव परीक्षण के बाद, हमने एक निगरानी टीम तैनात की और संदिग्धों से पूछताछ शुरू की। हमें पता चला कि दोनों बेटों विक्रम और सुमित का अपने पिता के साथ झगड़ा हुआ था क्योंकि पिता ने अपनी संपत्ति बेचने और उन्हें हिस्सा देने से मना कर दिया था।”

उन्होंने कहा कि विक्रम और सुमित से पूछताछ की गई और बाद में उन्होंने अपराध कबूल कर लिया। दोनों को सोमवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

आरोपियों पर आईपीसी की धारा 302 (हत्या) और 201 (सबूत गायब करने) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Related posts

बिहार: राजद को गांधी मैदान में धरने की नहीं मिली अनुमति, गेट के पास बैठे धरने पर

Newsdesk

मप्र में ‘बैंक-सखियां’ बनी घर-घर का बैंक

Newsdesk

गुरुग्राम में महिला से 3 लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

Newsdesk

Leave a Reply