Insight Today
National

अयोध्या में ‘भूमि पूजन’ के पहले ‘रामार्चा’ शुरू

67 acres of land in Ayodhya acquired by the Government of India in 1993, handed over to “Shri Ram Janmabhoomi Tirtha Kshetra”.

अयोध्या, 4 अगस्त | अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए ‘भूमि पूजन’ से एक दिन पहले मंगलवार सुबह को ‘रामार्चा’ पूजा शुरू हुई। रामार्चा पूजा जिसमें राम कथा और राम धुन का पाठ शामिल है, की अगुवाई वाराणसी और अयोध्या के 11 पुजारी कर रहे हैं। राम जन्मभूमि परिसर में छह से सात घंटे तक पूजा जारी रहेगी।

हनुमान गढ़ी मंदिर में भगवान हनुमान के ‘पताका’ (ध्वज) की विशेष पूजा भी की जा रही है।

पूरा राम जन्मभूमि क्षेत्र पीले गेंदे के फूलों से सजा हुआ है।

ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा, “पीला एक शुभ रंग है। हिंदू परंपरा में, पीले रंग का उपयोग सभी समारोहों में किया जाता है। यह पवित्रता और प्रकाश का प्रतीक है।”

उन्होंने कहा कि विभिन्न मंदिरों में होने रहे विभिन्न अनुष्ठानों का समापन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘भूमिपूजन’ करने के साथ होगा।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के मंगलवार शाम तक अयोध्या पहुंचने की उम्मीद है। वह उन पांच अतिथियों में शामिल होंगे जिन्हें बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर बैठाया जाएगा।

मंच पर मौजूद होने वाले अन्य अतिथियों में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मंदिर के निर्माण की देखरेख करने वाले श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास होंगे।

Related posts

मप्र मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा : शिवराज

Newsdesk

कोविड-19 : कश्मीर के एक जिले को छोड़कर बाकी सभी जिले रेड जोन में

Newsdesk

घबराएं नहीं, नए रूप वाला कोरोना ज्यादा घातक नहीं : सरकार

Newsdesk

Leave a Reply